NewsFriday

24×7 News On the Spot

News

NIA ने Mumbai के पूर्व पुलिस अधिकारी Pradeep Sharma को एंटीलिया बम घोटाला मामले में गिरफ्तार किया


राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार को मुंबई के पूर्व पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को एंटीलिया बम घोटाला मामले में उनके आवास पर सुबह छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया। एनआईए अधिकारियों ने कहा कि शर्मा से भी पहले दिन में पूछताछ की गई थी जिसकी साजिश में भूमिका थी।

सुबह 6.45 से 10.45 बजे के बीच लगभग चार घंटे तक चली छापेमारी के दौरान एनआईए अधिकारियों ने प्रदीप शर्मा के आवास से एक प्रिंटर, एक कंप्यूटर और एक लैपटॉप जब्त किया। छापेमारी के दौरान पुलिस अधीक्षक विक्रम खलाटे सहित एजेंसी के सात से आठ कर्मी मौजूद थे। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को भी मुंबई के अंधेरी में पूर्व पुलिसकर्मी के आवास पर तैनात किया गया था।

एनआईए ने मुंबई के अंधेरी (पश्चिम) में जेबी नगर स्थित उनके आवास पर सुबह करीब 6 बजे छापेमारी की और ऑपरेशन कई घंटों तक जारी रहा अधिकारियों ने उनके घर से कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए दिन की शुरुआत में।

मुंबई पुलिस के मुताबिक, एनआईए ने 11 जून को मलाड के कुरार गांव से शर्मा के करीबी माने जाने वाले संतोष शेलार और आनंद जाधव नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया था उन्हें एंटीलिया बम की आशंका और ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरन की बाद में मौत के संबंध में गिरफ्तार किया गया था।

शर्मा की गिरफ्तारी से पहले एनआईए ने मामले में चार अन्य पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार किया था जिनमें सचिन वाजे, रियाजुद्दीन काजी, सुनील माने और पूर्व पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे शामिल हैं।

बुधवार को एनआईए ने पुलिस इंस्पेक्टर सुनील माने की हिरासत बढ़ाने के लिए मुंबई में एक विशेष अदालत की अनुमति मांगी जिसे पहले 23 अप्रैल को मामले में गिरफ्तार किया गया था। माने का शेलार और जाधव से सामना करने के लिए एनआईए हिरासत की अवधि बढ़ाना चाहती थी।

25 फरवरी को मुंबई में अरबपति उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के पास जिलेटिन की छड़ों से लदी एक लावारिस एसयूवी और धमकी भरा नोट मिला था। इसके बाद गामदेवी पुलिस स्टेशन में छोड़े गए वाहन के संबंध में मामला दर्ज किया गया था।

एसयूवी के मालिक मनसुख हिरन 5 मार्च को मुंब्रा के पास मृत पाए गए थे। हिरन ने 17 फरवरी 2021 को वाहन चोरी होने की सूचना दी थी।