NewsFriday

24×7 News On the Spot

News

रेल यात्रियों को बड़ा झटका आप रात में ट्रेन में मोबाइल-लैपटॉप चार्ज नहीं कर पाएंगे।


भारतीय रेलवे ने अपने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं, जिसके अनुसार अब यात्री सुबह 11 बजे से सुबह 5 बजे तक ट्रेन में मोबाइल या लैपटॉप या अन्य उपकरणों को चार्ज नहीं कर पाएंगे। खुशी से अपने गंतव्य तक पहुंचने के इरादे से रेलवे ने रात भर ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों को बड़ा झटका दिया है। यदि आप रात में ट्रेन से यात्रा करते हैं, तो अपने मोबाइल, लैपटॉप और आवश्यक उपकरणों को पूरी तरह से चार्ज रखें, अन्यथा आपको समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल, भारतीय रेलवे ने अपने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। इस नए नियम के तहत, यात्री अब रात में ट्रेन में अपने मोबाइल या लैपटॉप या किसी अन्य डिवाइस को चार्ज नहीं कर पाएंगे।

इस निर्णय के पीछे तर्क रेलवे द्वारा किए गए हैं
यह निर्णय ट्रेन में आगजनी और चोरी की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। इससे किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सकता है। रेलवे ने अपने नए फैसले में यात्रियों के लिए एक समय सारिणी लागू की है, जिसमें वे सुबह 11 बजे से सुबह 5 बजे तक चार्ज नहीं कर पाएंगे, जिसके अनुसार बिजली आपूर्ति सेवा को सुबह 11 बजे से सुबह 5 बजे तक चार्जिंग पॉइंट्स पर रोका जाएगा। ऐसे में इस दौरान कोई भी उपकरण चार्ज नहीं किया जा सकता है।

रेलवे के अनुसार, ऐसा करने से रात में चोरी या आगजनी की घटनाओं की संभावना कम हो जाएगी या मोबाइल फट जाएगा। रेलवे की ओर से यह नियम कई ट्रेनों में लागू किया गया है।

इसी महीने 13 मार्च को दिल्ली-देहरादून शताब्दी एक्सप्रेस में भीषण आग लग गई थी। आग एक कोच में लगी और देखते ही देखते 7 डिब्बों में फैल गई। हालांकि, हादसे में कोई यात्री नहीं मारा गया था। ऐसे में रेलवे ने इस घटना और पहले की घटनाओं से सीख लेते हुए सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए। यही कारण है कि रेलवे ने अब रात के समय ट्रेनों में चार्जिंग सुविधा समाप्त करने का निर्णय लिया है

। नई ट्रेनें 1 अप्रैल से कई रूटों पर चलेंगी,
आपको बता दें कि कोरोना महामारी के मद्देनजर एहतियाती कदम उठाते हुए पूरे देश में ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। अब, 1 अप्रैल 2021 से यात्रियों की सुविधा के साथ, भारतीय रेलवे देश भर के कई मार्गों पर नई ट्रेनें शुरू करेगा। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सामाजिक गड़बड़ी को ध्यान में रखते हुए, रेलवे ने भीड़ को रोकने और लोगों को आसानी से सीटें उपलब्ध कराने के लिए कई विशेष ट्रेनें चलाने की भी घोषणा की है।