NewsFriday

24×7 News On the Spot

News

डॉक्टर ने 6 महीने के बच्चे को खोज कर इंजेक्शन लगाया था


ओडिशा के दबुगम हेल्थ सेंटर में एक अजीब मामला सामने आया है। जहां परिवार ने डॉक्टर पर आरोप लगाया है कि डॉक्टर ने उसके छह महीने के बच्चे को Google पर खोज कर इंजेक्शन लगाया था, जिसके कारण बच्चे की मौत हो गई। वहीं, इस मामले पर अस्पताल के एक अधिकारी से पूछताछ की गई तो उन्होंने इस आरोप को पूरी तरह से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि बच्चे को निमोनिया था और उसे गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था जिससे बच्चे की मौत हो गई।

बच्चों के माता-पिता प्रशांत बिसोई और अमृता ने अस्पताल के डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके बेटे की तबीयत 30 मार्च को बिगड़ गई थी। 31 मार्च को उन्हें दबंगम स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए लाया गया था। जहां डॉक्टर ने अपने फोन पर गूगल सर्च करके अपने छह महीने के बेटे को प्रिस्क्रिप्शन लिखा।

उन्होंने आगे कहा कि डॉक्टर ने उन्हें Google पर खोजा, एक इंजेक्शन लिखा और उन्हें इसे लागू करने की सलाह दी। जैसे ही उसके बच्चे को वह इंजेक्शन दिया गया, उसकी आँखें बंद हो गईं और उसकी मृत्यु हो गई।

परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधिकारी सुभासिस साहू ने कहा कि बच्चा गंभीर निमोनिया से पीड़ित था और उसे गंभीर हालत में अस्पताल में इलाज कराया गया था। उपयुक्त दवाओं का उपयोग किया गया था, लेकिन वह अंतिम चरण पर था। साहू ने दावा किया है कि वह मरीज को उमरकोट ले गया था, लेकिन उसकी हालत बिगड़ गई थी। मरीज को गंभीर हालत में यहां लाया गया था।

वहीं, डॉक्टर के बयान पर परिवार ने कहा कि जब बच्चे की हालत गंभीर थी, तो डॉक्टरों ने उसे किसी अन्य अस्पताल में रेफर नहीं किया था। शायद इससे उनके छह महीने के बच्चे की जान बच गई होगी। बच्चे की मौत के बाद परिवार को गहरा दुख हुआ है।